Sunday, 17 November 2019

राजस्थान में विवाह की एक बेहतरीन तस्वीर

विवाह मानव-समाज की अत्यंत महत्वपूर्ण समाजशास्त्रीय संस्था (Institution of society) है। यह समाज का निर्माण करने वाली सबसे छोटी इकाई जिसे हम परिवार कहते हैं, उसका मूल है। यह मानव प्रजाति के सातत्य (continuity ) को बनाए रखने का प्रधान जीवशास्त्रीय माध्यम ( Biological medium ) भी है।

आत्महत्या को क्यों मजबूर हैं किसान!

इंडिया, सीकर । आज एक किसान से मुलाकात हुई। किसान की व्यथा सुनकर आश्चर्य ही नहीं बल्कि घोर दुःख भी हुआ। सरकार और तथाकथित बुद्धिजीवी वर्ग पर सवाल दागने के लिए भी मन किया लेकिन कलम रुक गई क्योंकि इन दोनों में ही अगर जवाब देने की कुब्बत होती तो आज कोई सवाल ही खड़ा ही नहीं होता। हर दिन 31 से ज्यादा किसान सरकारी आंकड़ों में आत्महत्या क्यों करते?

Friday, 28 June 2019

#हनुमान #बेनीवाल ने लोकसभा में किये सवाल तो आया भूचाल। #rlp #ndtv #tahtak #Hb

आरएलपी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनिवाल संसद में काफी सक्रिय हैं। वे सदन की कार्रवाई सुनने काल से अपनी चिर परिचित अंदाज में नजर आए । बुधवार को संसद में हनुमान बेनीवाल ने जनता से जुड़े कई महत्वपूर्ण मामले भी उठाए. शून्यकाल के दौरान लोकसभा अध्यक्ष की विशेष अनुमति के बाद हनुमान बेनीवाल ने विशिष्ट फसलों को एमएसपी के दायरे में शामिल करने की मांग की। अपने समय के पूरे हो जाने के बावजूद अपनी बात को किस तरह से रखना है यह हनुमान बेनीवाल ने सबके सामने एक अनुकरणीय उदाहरण पेश किया है जिसकी बदौलत देश का प्रत्येक सांसद अब यह विचार करने पर आमदा है कि शून्यकाल के दौरान भी अपने समय से ज्यादा समय किस प्रकार अर्जित किया जा सकता है।
इस विश्लेषण में हनुमान बेनीवाल द्वारा उठाए गए मुद्दों को बारीकी से विश्लेषण किया गया है यह वीडियो देख कर आप अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें और यूट्यूब पर हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर हमें प्रोत्साहित करें।

           


Thursday, 27 June 2019

NHM स्वास्थ्य विभाग में ये क्या हो गया? | क्यों नहीं अफसरों को बर्खास्त कर दिया जाए?

     यह वीडियो एनएचएम में भर्ती घपले को लेकर बनाया गया है जिसमें विश्लेषण के बाद और विश्लेषण से पहले के बिंदु पर विचार किया गया है । बिंदु पर विचार करते हुए एक निष्कर्ष पर पहुंचा गया है लेकिन इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल इस मुद्दे पर यही होता है कि "जब अफसरों की अकर्मण्यता के अभाव में इस तरह के घपले बाजी या फिर अनियमितता हो ही नहीं सकती तो क्या सरकार दोषी अफसरों को सजा देगी या फिर इनाम ?

             
     

Wednesday, 12 June 2019

क्या वाकई राष्ट्रीय शिक्षा नीति देश ज्ञानी इंडिया में शिक्षा ला पाएगी? क्या वास्तव में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2019 इंडिया में शिक्षा के मानक स्थापित कर पाएगी?

     इस आलेख में हम सब से सटीक और सबसे बेबाक विश्लेषण करेंगे देश के सबसे अहम और अपीहार्य मुद्दे शिक्षा नीति का । इस एपिसोड में हम शिक्षा नीति का विश्लेषण करते हुए यह जानेंगे कि यह शिक्षा नीति 2019 कितनी कारगर होगी और जो बनी है उसमें कितनी अकर्मण्यता दिखाई गई हैं ? सबसे पहले शिक्षा क्या है शिक्षा का अभिप्राय क्या है? हमारे दृष्टिकोण में शिक्षा -

             

Monday, 10 June 2019

क्या युवराज सिंह ने सन्यास मजबूरी में लिया है? | क्या युवराज सिंह का इस तरह से सन्यास लेना बीसीसीआई की बेइज्जती नहीं है?

       
        छह बॉल में छह छक्के मारने वाला वह हिंदुस्तानी बल्लेबाज !जब भारतीय टीम की फील्डिंग का दूसरे देश के खिलाड़ी मजाक उड़ाते थे तब क्षेत्ररक्षण को एक उच्च स्तर पर ले जाने वाले वह हिंदुस्तानी फील्डर ! कैंसर से लड़कर भी 2015 में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाला वह ऑलराउंडर खिलाड़ी ! अगर ऐसे मैं लिखने बैठ जाऊंगा तो पता नहीं कितने किस्से याद आना शुरू हो जाएंगे ! लेकिन इतने में ही मुझे उम्मीद है कि आप समझ गए हैं कि मैं किस खिलाड़ी की बात कर रहा हूं?

Tuesday, 4 June 2019

संविदा का दंश कितना भयावह है देखिए ये विश्लेषण| संविदा वालों की ईद कब होगी?


क्या संविदा के नाम पर कार्मिकों का शोषण लोकतंत्र और लोकतांत्रिक व्यवस्था के लिए खतरनाक नहीं है? देखिए सरकार की बर्बरता का ये विश्लेषण सिर्फ तहतक पर बेबाक और सटीक👇

           
चैनल को Subscribe जरूर करें।

Monday, 3 June 2019

हनुमान बेनीवाल मंत्री क्यों नहीं बने? Why did not Hanuman Beniwal become...

क्या हनुमान बेनीवाल ने भाजपा की इन तीन शर्तों को नहीं मान कर सही किया या ये हनुमान बेनीवाल की फितरत में नहीं था ? आखिर क्या वजह रही कि हनुमान बेनीवाल मंत्री बनते बनते रह गए? क्या हनुमान बेनीवाल के साथ भी वही हुआ जो मिल्खा सिंह के साथ हुआ ? देखिए तह तक का ये बेबाक विश्लेषण और अपनी राय जरूर दें

                      
चैनल को सब्सक्राइब जरूर करें।

Sunday, 2 June 2019

इंडिया की सरकार आधे कश्मीर पर चुप क्यों है?| आखिर क्या है आज़ाद व अक्साई कश्मीर का सच?

         आखिर आधे कश्मीर पर इंडिया की सरकार चुप  क्यों है? क्या देश की जनता को गुमराह किया जा रहा है?  चुनाव आयोग तथाकथित आज़ाद कश्मीर, गिलगित व अक्साई चीन में चुनाव नहीं करवाता है तो ये हिस्से इंडिया के कैसे हो गए? क्या इन क्षेत्रों में जाने के लिए एक इंडियन के लिए पासपोर्ट की जरूरत नहीं पड़ती? आखिर क्या है सच्चाई सम्पूर्ण कश्मीर और इंडिया के दावे को लेकर ? देखिए सबसे सटीक, सही व बेबाक विश्लेषण सिर्फ तहतक पर 👇
                

चैनल को Subscribe जरूर करें।

क्या मध्य प्रदेश में भाजपा सरकार बनने वाली है?| क्या मध्यप्रदेश में कॉंग्रेस सरकार पर संकट है?

क्या मध्य प्रदेश में कमलनाथ की सरकार गिरेगी? क्या मध्यप्रदेश में भाजपा की सरकार बनेगी? क्या मध्यप्रदेश में राजनितिक उठापटक जारी है? इस तरह के कई सवाल मध्य प्रदेश की राजनीति में उठ खड़े हुए हैं और वहां की राजनीती में आई अस्थिरता को भी बनया करते हैं आइये देखे देखिए सबसे सटीक, सही व बेबाक विश्लेषण सिर्फ तहतक पर 👇


                         
चैनल को Subscribe जरूर करें।

Thursday, 30 May 2019

राजस्थान में लोकसभा चुनावों में कॉंग्रेस के सफाए के प्रमुख कारण 5 Reasons of clean bold in rajasthan

आखिर कॉंग्रेस राजस्थान में एक भी सीट पर क्यों नहीं जीत पाई? क्या ये 5 वजहें रही? देखिए सबसे सटीक, सही व बेबाक विश्लेषण सिर्फ तहतक पर 👇

             
चैनल को Subscribe जरूर करें।

Monday, 27 May 2019

राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर मंडराए खतरे के बादल

क्या राजस्थान में गहलोत सरकार जाने वाली है? क्या राजस्थान में विधानसभा चुनाव होंगे? देखिए सम्पूर्ण विश्लेषण सिर आपके अपने पसंदीदा तहतक चैनल पर👇        
चैनल को Subscribe व Share जरूर करें।

Tuesday, 29 January 2019

Saturday, 26 January 2019

कर्जमाफी का मज़ाक कब तक?





क्या मोदी की जीत evm हैकिंग से हुई, जानिए सिर्फ सच।



नमस्कार मैं डॉ. नीरज मील, क्या इंडिया में 2014 के लोकसभा के चुनाव और उसके बाद हुए चुनावो में काम में ली गयी EVM मशीने हैक की गई थी ? EVM हैकिंग का सवाल 2014 के आम चुनावों के बाद खूब उठा था और हाल ही में कोलकाता में हुए मोदी बनाम अन्य सभी के राजनीतिक सम्मलेन में भी उठा हैइस एपिसोड में हम EVM हैकिंग के मुद्दे की तह तक जाने का प्रयास करेंगे और ये जानने का प्रयास भी करेंगे कि क्या वास्तव में EVM हैक हुई थी या हो सकती है! लेकिन इससे पहले कि हम आगे बढे उससे पहले आपसे यह गुज़ारिश जरुर है कि अगर आपने मेरे इस युट्यूब चैनल को सब्सक्राइब नहीं किया है तो अभी कर लीजिए और हाँ बेल आइकोन को जरुर प्रेस कीजिएगा ताकि बेहतरीन विश्लेषण आप तक जल्द पहुच सकें।
क्या EVM के साथ लगातार छेड़छाड़ होती रही हैं? हाल ही में लन्दन में EVM को लेकर एक कान्फेरेंस हुई है जिसमे EVM हैकिंग और इससे जुड़े कुछ लोगों कि हत्याओं का खुलासा भी हुआ है। अब कोई इन बातों कि सत्यता को कैसे जांचे? सवाल न केवल गंभीर है बल्कि कई अन्य सवाल भी खड़े करता है। ख़ास बात ये है कि हिन्दुस्तान में हुए चुनावों में विदेशों की दिलचस्पी क्यों हैं? क्या हिंदुस्तान में मौजूद भाजपा और कांग्रेस के विश्वस्तरीय ध्रुवों से सम्बन्ध है? अगर इन सब सवालों का जवाब हाँ में है तो वाकई ये देश और नागरिकों की स्वतंत्रता पर गंभीर खतरा भी है।  लेकिन अगर नहीं तो फिर ये सवाल फिर से खड़ा हो जाता है कि “क्या EVM में हैकिंग कर सरकार बनी है?
अगर हैकिंग हुई है तो कहानी ये है कि 2014 में देश में उपजे जनाक्रोश को शांत करने के लिए देश के दो मुख्य दलों की आपसी सहमति से ये हैकिंग करवा सरकार बनवाई गई और बाद में जब दुसरे दल ने सरकार बना ली तो इसे खुद के स्थाई अस्तित्व का साधन बना लिया और इसी वजह से दोनों का झगडा सार्वजानिक हो गया। इस बात की संभावना से इनकार तो नहीं किया जा सकता।
अगर आपसी सहमति नहीं है तो ये छेड़छाड़ कुछ अलग तरह से सोची समझी साजिश हो।

Tuesday, 22 January 2019

क्या सीकर से चुनाव लड़ेंगे सनी देओल?



राजस्थान विधानसभा चुनावों में सीकर की आठों विधानसभा सीटों पर कोंग्रेस की जीत के बाद भाजपा विरोधी लहर इस कद्र हावी हुई बताई जा रही है कि कोई भी कार्यकर्त्ता लोकसभा चुनावों में टिकेट के लिए अपनी दावेदारी करने से भी कतराते बताये जा रहे हैं। इस बात पर कोंग्रेसी उपरी मन से तंज कसते हुए कहते नज़र आ रहे हैं  कि भाजपा के पास अब कोई कार्यकर्त्ता ही नहीं बचेइसलिए अभिनेता के सहारे चुनाव लड़ना चाह रहे हैं। हालांकि सुपर स्टार सनी देओल की इस चर्चा से खौफजदा भी लग रहे हैं।

Monday, 21 January 2019

महिला सशक्तिकरण!


नमस्कार मुद्दों के सही और सटीक और समुचित निष्पक्षता के साथ विश्लेषण के लिए आप बने हैं डॉ. नीरज मील के साथ. 

गहलोत सरकार के फैसले का विश्लेषण



नमस्कार मुद्दों के सही और सटीक और समुचित निष्पक्षता के साथ विश्लेषण के लिए आप बने हैं डॉ. नीरज मील के साथ. 

कर्ज माफ़ी, किसान और राजनीति

कर्ज माफ़ी, किसान और राजनीति

    
नमस्कार, मैं डॉ. नीरज मील। मुद्दों के सही और सटीक और समुचित निष्पक्षता के साथ विश्लेषण के लिए बने हुए हैं तह तक