Monday, 21 January 2019

गहलोत सरकार के फैसले का विश्लेषण



नमस्कार मुद्दों के सही और सटीक और समुचित निष्पक्षता के साथ विश्लेषण के लिए आप बने हैं डॉ. नीरज मील के साथ. 

महिला सशक्तिकरण! सुनने में नाम और स्थिति भले ही अजीब लगे लेकिन हाल ही में राजस्थान में आई कोंग्रेस की अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली राजस्थान सरकार ने इस सिलसिले में दो महत्वपूर्ण कदम उठाये हैं। इस एपिसोड में हम सरकार के इन्हीं दो कदमों का विश्लेषण करेंगे और तह तक जाकर यह जानने का प्रयास भी करेंगे कि क्या वास्तव में सरकार के ये निर्णय इस दिशा में कारगर साबित होंगे!

अब राजस्थान में लड़कियों को कॉलेज में नहीं देनी पड़ेगी फीस

गहलोत सरकार ने लड़कियों की शिक्षा के लिए राजस्थान में एक बड़ा कदम उठाया है। जिसके तहत अब लड़कियों को पढ़ाई के लिए किसी भी तरह का शुल्क नहीं देना पड़ेगा। सरकार के इस कदम का मकसद प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा लड़कियों को शिक्षित करना है। मामले में उच्च शिक्षा राज्यमंत्री भंवर सिंह भाटी ने बताया कि निशुल्क शिक्षा की शुरूआत सरकारी कॉलेजों से की जाएगी। जिसके तहत राजस्थान के 252 कॉलेजों को चुना गया है। इन 252 कॉलेजों में लड़कियों को अब पूरी तरह से निशुल्क शिक्षा मिलेगी। मंत्री भाटी के मुताबिक अगले चरण में इसे विश्वविद्यालयों में भी लागू किया जाएगा।
आइये जानते हैं अब तक के नियम
मामले में शिक्षा विभाग के अधिकारियों के हवाले से एवं हमारी खोजबीन के मुताबिक़  मौजूदा समय में भी सरकारी कॉलेजों में लड़कियों की शिक्षा मुफ्त है, लेकिन उनसे विकास शुल्क और लाइब्रेरी शुल्क जैसे कुछ छोटे शुल्क लिए जाते हैं। ऐसे में अब 9वीं क्लास के ऊपर की छात्राओं का ये लाभ मिलेगा। आपको बता दें कि 8वीं तक की छात्राओं को अब तक राजस्थान में पूरी तरह से मुफ्त शिक्षा मिलती है।
कुल मिलाकर बात की जाए तो महिलाओं को उच्च शिक्षा में इस फैसले से यानी अगर सभी प्रकार के शुल्क की मुक्ति दी जाती है तो भविष्य में विकास शुल्क एवं परीक्षा शुल्क के रूप में सालाना प्रति महिला अभ्यर्थी पन्द्रह सौ से दो हज़ार का आर्थिक संबल मिल सकता है।


दोनों ही निर्णयों में से पहला शिक्षा तो दूसरा राजनीति और शिक्षा दोनों ही क्षेत्रो में महिलाओं को आरक्षण मिल जाएगा लेकिन महिलाओं की सुरक्षा, संबलता एवं सशक्तिकरण को लेकर हम आश्वस्त हो जाए तो ये जल्दबाजी होगी ।
इस एपिसोड में इतना ही मिलते हैं एक नए मुद्दे की तह तक जाने के लिए। मुद्दों के सही सटीक और समुचित विश्लेषण के लिए आप बने रहे डॉ. नीरज मील के साथ के साथ क्योंकि हम पहुचेंगे प्रत्येक मुद्दे की तह तक। फिलहाल अपने दोस्त डॉ. नीरज मील को दीजिए इजाजत शुक्रिया।

 *Contents are subject to copyright                           




                                                                                                           Any Error? Report Us



No comments:

Post a Comment