Sunday, 24 February 2019

क्या इंडिया के राष्ट्रगान में भी एक साजिश छुपी हुई है?


           



      क्या वे सवाल नहीं उठने चाहिए जिनका वाजिब जवाब अब तक नहीं मिल पाया है? क्या सच सभी के सामने नहीं आना चाहिए?  इस एपिसोड में राष्ट्रगान की तह तक जाकर उसमें छिपी हुई अनकही, अनचाही और उस राज को जानने का प्रयास करेंगे । 

सबसे पहले तथाकथित इतिहास
  • इंडिया का राष्ट्रगान जन गण मन है 
  • जन गण मन की रचना रविंद्र नाथ टैगोर ने की थी 
  • Quora. com के अनुसार जन-गण-मन दिसंबर 1911 में लिखा गया था 
  • जन गण मन का इंग्लिश ट्रांसलेशन 1919 में मार्गरेट ने किया था 
  • पहली बार जनगणमन को 27 दिसंबर 1911 में हुए कोलकाता हुए कॉंग्रेस अधिवेशन में जॉर्ज पंचम के सामने गाया गया था।
राष्ट्रगान पर विवाद
    इस गान का विवाद से गहरा ताल्लुक रहा है हालांकि प्रत्येक इंडियन अपने देश के राष्ट्रगान का सम्मान करता है।

  • राष्ट्रगान पर सबसे बड़ा विवाद यह है कि यह गान ब्रिटिश राजा जॉर्ज पंचम के सम्मान में लिखा गया है। विवाद की जड़े इसके प्रथम गायन से ही शुरू हो जाती है।
  • लेखक राजीव दीक्षित के एक व्याख्यान में भी उन्होंने गंभीर सवाल राष्ट्रगान पर उठाए हैं । राजीव दीक्षित ने एक कार्यक्रम के दौरान अपने व्याख्यान माला में कहा था कि खुद टैगोर ने लंदन में रहने वाले अपने बहनोई को पत्र लिखकर बताया था कि अंग्रेज अधिकारी उस पर दबाव बना रहे हैं कि वे जॉर्ज पंचम की प्रशंसा में एक गीत लिखे।
  • दैनिक भास्कर में छपी खबर के अनुसार जुलाई 2015 में राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह ने भी आपत्ति दर्ज की। आपत्ति में उन्होंने सवाल किया था राष्ट्रगान में अधिनायक कौन?
  • सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मार्कंडेय काटजू ने भी रविंद्र नाथ टैगोर को अंग्रेजों की कठपुतली बताया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि राष्ट्रगान जन-गण-मन देश के गौरव के लिए नहीं बल्कि अंग्रेजों की चापलूसी के लिए लिखा गया था। काटजू ने अपने पक्ष में दलील रखते हुए इंग्लिशमैन नामक अखबार का जिक्र किया और कहा कि इस अखबार ने भी जन गण मन को लेकर बहुत बड़ा खुलासा किया था।
  • Ichowk. in पर 22 दिसम्बर 2015 को अभिषेक पांडे के छपे एक लेख के अनुसार 28 दिसंबर 1911 को रविंद्र नाथ टैगोर ने सम्राट जॉर्ज पंचम के स्वागत के लिए अपने द्वारा रचित गीत को गाया गया बताया गया है।
  • भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने भी 2015 में राष्ट्रगान में बदलाव की मांग रखी थी और इस संदर्भ में प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखा था।
तार्किक परख
अब आते हैं तथ्यों की रोशनी में ताकि तह तक पहुंचा जा सके।
" 1911 के जन गण मन गीत में रविंद्र नाथ टैगोर ने पंजाब सिंध गुजरात लिखा है जबकि हकीकत यह है कि उस वक्त गुजरात सौराष्ट्र राजस्थान और पाकिस्तान का हिस्सा सिंध के नाम से जाना जाता था। तो ऐसे में सवाल उठना लाजमी है कि 

  1. गुजरात कहां से आया और इसका इंडिया से क्या संबंध हुआ?
  2. क्या रविंद्र नाथ टैगोर को पहले से पता था कि अंग्रेजों के जाने के बाद देश में गुजरात नाम का राज्य बनेगा?
  3. क्या रविंद्र नाथ टैगोर को यह भी पता था कि बांग्लादेश और वर्मा हिंदुस्तान से अलग हो जाएगा?
  4. इंडिया का नाम उस वक्त यानी कि 1911 तक हिंदुस्तान था या इंडिया तो सवाल यह भी उठता है कि क्या टैगोर को यह भी पता था कि इंडिया दैट इज भारत संविधान बनेगा और उसमें लाइन लिखी जाएगी?
  5. इसी तरह पंजाब शब्द भी इस रचना के बाद की ही उत्पत्ति है!
  6. क्या 1911 में केवल पंजाब, सिंध, गुजरात, मराठा, द्रविड़ उत्कल और बंगाल यह सब ही हिस्सा ही इंडिया था?    
     तमाम सवालों के मद्देनजर सवाल उभर कर आता है कि जन गण मन क्या वाकई हिंदुस्तान के लिए लिखा गया एक गीत है ? क्या वास्तव में रविंद्र नाथ टैगोर ने इस गीत में इंडिया का सम्मान किया है विचारणीय जरूर है?  स्थिति साफ है कि यह सारी कशमकश शरणार्थियों के स्थायीकरण की एक कोशिश है जो भावनाओं के साथ बहुत आगे बढ़ती चली गई। 
   ऐसे में स्पष्ट है कि विरोध की बुनियाद मुद्दों पर होती है जो हकीकत में बेमेल की वजह से उत्पन्न होती है। आप भी हिंदी विकिपीडिया या अन्य स्रोत से संपूर्ण जन गण मन का अर्थ लिखिए, पढ़िए और फिर फैसला कीजिए। आपको सवालों के जवाब जरूर मिलेंगे, इसलिए सवाल जरूर कीजिए । 
     अभी के लिए इतना ही मिलते हैं एक नए मुद्दे की तह तक जाने के लिए। मुद्दों के सही, सटीक बेबाक निष्कर्ष के लिए आप बने रहे डॉ नीरज मील के साथ तह तक चैनल पर ।फिलहाल दीजिए इजाजत, शुक्रिया।

References:-
1. https://www.bhaskar.com/amp/news/c-10-2167322-jp0556-NOR.html
2. https://m-hindi.webdunia.com/independence-day-special/independence-day-115081200047_1.html?amp=1
3.https://m.livehindustan.com/news/article/article1-story-232662.html
4.https://hi.quora.com/भारत-के-राष्ट्रगान-का-अर्थ
5. https://hi.m.wikipedia.org/wiki/जन_गण_मन
6. https://www.ichowk.in/politics/controversy-and-reality-of-our-national-anthem/story/1/2316.html
7.https://youtu.be/9QX-fpUHpWs
8.https://www.ichowk.in/politics/controversy-and-reality-of-our-national-anthem/story/1/2316.html
9.https://hi.m.wikipedia.org/wiki/गुजरात
10. https://hi.m.wikipedia.org/wiki/जन_गण_मन
11. https://hi.m.wikipedia.org/wiki/पंजाब_का_इतिहास

No comments:

Post a comment