Thursday, 27 June 2019

NHM स्वास्थ्य विभाग में ये क्या हो गया? | क्यों नहीं अफसरों को बर्खास्त कर दिया जाए?

     यह वीडियो एनएचएम में भर्ती घपले को लेकर बनाया गया है जिसमें विश्लेषण के बाद और विश्लेषण से पहले के बिंदु पर विचार किया गया है । बिंदु पर विचार करते हुए एक निष्कर्ष पर पहुंचा गया है लेकिन इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल इस मुद्दे पर यही होता है कि "जब अफसरों की अकर्मण्यता के अभाव में इस तरह के घपले बाजी या फिर अनियमितता हो ही नहीं सकती तो क्या सरकार दोषी अफसरों को सजा देगी या फिर इनाम ?

             
     


   हम अक्सर इस तरह के विशेषण से मुख मोड़ लेते हैं और विश्लेषण को देखना पसंद नहीं करते जबकि हकीकत यह है कि अब अगर हम यानी कि जनता अपनी negligency की मानसिकता को बाहर निकालकर नहीं आएगी तब वह एक गहरे अंधेरे कुएं में ज्यादा दखेली जाएगी जिससे बाहर निकल पाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है । जो एक भयावह गुलामी की ओर ले जाने में सहायक होगी।
        जनता की यही Negligency अर्थात जनता के द्वारा के द्वारा मुद्दों को नहीं उठाया जाना इस बात का द्योतक भी है कि वह जनता के लिए ही परेशानी का सबब बनते हैं। बेरोजगारों का बेहूदा मजाक उड़ता है, बेरोजगारी की इस बेतरतीब आलम में बेरोजगारों का खुला मजा जो ब्यूरोक्रेट्स द्वारा नौकरशाही के साथ उड़ाया जाता है वह किसी भी शक्ल सूरत में स्वीकार्य नहीं है। क्या आप अब भी इन मुद्दों से दूर भागते रहेंगे ? मैं मानता हूं कि इस तरह के मुद्दों में आमजन की कोई दिलचस्पी इसलिए नहीं होती क्योंकि इनके साथ किसी प्रकार का मसाला नहीं होता लेकिन हकीकत तो यही है कि यही मुद्दे हमारे अपने होते हैं, हमारे भविष्य और हमारे वर्तमान के साथ जुड़े हुए होते हैं। लिहाजा हम सबको एक लोकतंत्र में कर्तव्यनिष्ठ नागरिक की तरह सवाल करनी चाहिए और सवालों के साथ हर एक मुद्दे को बारीकी से देखने की जरूरत है, पहचानने की जरूरत है।  इस आलेख को पढ़ने के बाद, वीडियो को देखने के बाद अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें और हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब जरूर करें किसी भी प्रकार की कोई सलाह मशविरा अगर आपके पास है तो आप बेझिझक हमें बताइएगा हम उसका अनुसरण करने का बेइंतेहा प्रयास करेंगे। शुक्रिया।

No comments:

Post a Comment