Saturday, 23 February 2019

सीकर के जैनी युवाओं ने किया कमाल। क्या समाज सेवा भी कैरियर हो सकता है?


            



जिंदगी के एहसास को मुकम्मल रखना।
जो मिला उसे संभालकर सदा बनाए रखना।।
     क्या कोई अपना जीवन उन बेसहारों के नाम कर सकता है जो उसे जानते भी नहीं? क्या स्वार्थ और छल से ओतप्रोत इस दुनिया में ऐसे लोग भी हैं जिन्हें पर पीड़ा अर्थात दूसरों का दुख महसूस होता है? इस आलेख में कुछ ऐसे ही व्यक्तियों की न केवल बात करेंगे बल्कि उन्हें विश्लेषित कर समझने का प्रयास भी करेंगे ताकि वास्तव में समाज के उन मुद्दों को भी सबके सामने रखा जा सके जो अक्सर धुंधले होकर छूट जाते हैं या गायब हो जाते हैं ।
    ऐसे ही प्रयासों में एक प्रयास कुछ उन युवा साथियों का है जो एक जो एक अनन्त जोश के साथ एक अंतहीन, समाजविहीन हो चुके कुल कुछ फूलों को चुनकर समाज को महकाने को आतुर हैं प्रतिबद्ध है। जरूरी नहीं कि हर पहल शोर ही करें। अक्सर बहुत सी पहल नि:शब्द भी होती हैं। बस जरूरत होती है उनकी तह तक जाकर उनके मर्म को सार्वजनिक करने की।
     सीकर के युवाओं ने उस कार्य को करने का बीड़ा उठाया जिसे अक्सर बड़े एवं सक्षम लोग सोचते भी नहीं है। सीकर से महज 20 किलोमीटर दूर अवस्थित है रेवासा धाम। अरावली पर्वतमाला की तलहटी में बसा ये गांव प्रसिद्ध है आध्यात्मिक तौर पर लेकिन सीकर के जैन समाज की कुछ युवाओं की आवाज में एक नई कसौटी तैयार की है। लगभग 30 माह पहले समाज में अनाथ हो चुके बेसहारा बच्चों को संबल प्रदान करने, उनके सपनों को साकार करने के लिए अनाथ आश्रम का निर्माण करने की कल्पना की और आज अथक प्रयासों से लगभग बनकर तैयार हो चुका है। 
      एक अच्छी शुरुआत के लिए भले ही पैमाना छोटा हो लेकिन शुरुआत का होना ज्यादा महत्वपूर्ण है और यही शुरुआत इन युवाओं ने की है। बेहतर और बेहतरीन के लिए लोग अक्सर प्रयासरत रहते हैं लेकिन समाज की भलाई के लिए सोच रखने से बेहतरीन और क्या हो सकता है? आइए जानें वात्सल्यधाम से जुड़े उस विचार और उन संघर्षों को इस वीडियो में अनुभव करें। एक नई सोच के साथ उसे उन संघर्षों को। निश्चित ही वात्सल्यधाम अनाथ और बेसहारा बच्चों के लिए आने वाले समय में मील का पत्थर साबित होगा। हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह आलेख और वीडियो पसंद आया होगा और साथ ही ऐसे युवाओं से सलाम करते हैं उनके जोश को चाहेंगे कि उनके जोश में बरकरारी और बेकरारी दोनों हो ताकि वे अपने लक्ष्यों को प्राप्त कर सके आप भी अपनी राय जरूर दीजिए।

No comments:

Post a Comment